भरोसा, जैसे दो नाव की सवारी हो, जैसे खैरात में बटती बिमारी हो जैसे अमूल्य तिजोरी या अलमारी हो ॥ अगर टूटे तो कहने को जाता नही है कुछ किसी का मगर जो जानते है वो मानते है की छूट जाता है सारा इतिहास सभी का ॥ टूटे तो कभी न जुड़ने वाली चेन है ये, जुड़ी रहे तो बंबई की मेह है ये ॥ भरोसा बड़ी कमीनी भी होती है टूटने पर पहचान देती है, करने वाले को पागल , तोड़ने वाले को बदनाम करार देती है ॥

भरोसा, जैसे दो नाव की सवारी हो, 
जैसे खैरात में बटती बिमारी हो
जैसे अमूल्य तिजोरी या अलमारी हो ॥ 
अगर टूटे तो कहने को जाता नही है कुछ किसी का
मगर जो जानते है वो मानते है की 
छूट जाता है सारा इतिहास सभी का ॥ 
टूटे तो कभी न जुड़ने वाली चेन है ये, 
जुड़ी... feeling stories
  2
  •  
  0
  •   1 comment
Share

pagalme
pagalme enjoying and learning myself
Autoplay OFF   •   a year ago
Just some words of my heart

भरोसा, जैसे दो नाव की सवारी हो, जैसे खैरात में बटती बिमारी हो जैसे अमूल्य तिजोरी या अलमारी हो ॥ अगर टूटे तो कहने को जाता नही है कुछ किसी का मगर जो जानते है वो मानते है की छूट जाता है सारा इतिहास सभी का ॥ टूटे तो कभी न जुड़ने वाली चेन है ये, जुड़ी रहे तो बंबई की मेह है ये ॥ भरोसा बड़ी कमीनी भी होती है टूटने पर पहचान देती है, करने वाले को पागल , तोड़ने वाले को बदनाम करार देती है ॥

Stories We Think You'll Love 💕

Get The App

App Store
COMMENTS (1)
SHOUTOUTS (0)