हर बार एक दर्द सा सीने में रह जाता था !! हाल जरे-जरे का वो यूँही बया कर जाता था! दर्द में जिएँ या दर्द हममे जी ले!! बस यही सोच कर दर्द हममे समां जाता था !
हर बार एक दर्द सा सीने में रह जाता था !!
हाल जरे-जरे का वो यूँही बया कर जाता था!
दर्द में जिएँ या दर्द हममे जी ले!!
बस यही सोच कर दर्द हममे समां जाता था !
 pain stories
  12
  •  
  0
  •   1 comment
Share

rajchawla
rajchawla Community member
Autoplay OFF   •   a year ago

हर बार एक दर्द सा सीने में रह जाता था !! हाल जरे-जरे का वो यूँही बया कर जाता था! दर्द में जिएँ या दर्द हममे जी ले!! बस यही सोच कर दर्द हममे समां जाता था !

Stories We Think You'll Love 💕

Get The App

App Store
COMMENTS (1)
SHOUTOUTS (0)