ज़िंदगी खुश हैं, पर हम नहीं ।
ज़िंदगी खुश हैं, पर हम नहीं । ज़िंदगी खुश हैं stories
  3
  •  
  0
  •   0 comments
Share

avinashthakur
avinashthakur Community member
Autoplay OFF   •   2 months ago

ज़िंदगी खुश हैं, पर हम नहीं ।

ज़िंदगी खुश है, पर हम नहीं, निगाहें खुली है, पर हम नहीं, साँसे भी साँस ले रही है, पर हम नहीं, सब अपनी दुनिया मे मशगूल है, पर हम नहीं, सब की आँखों मे सपने है, पर हमारे नहीं, आँखों मे नींद हो तभी तो सपने आयेंगे, सपने तो दूर हमारी आँखे भी अब नम नहीं, रातें सब की सुहानी सी होती है, हमारी किसी गुमशुदा ख़्यालों से कम नहीं, याद तो आती है बहोत, पर पास जाने का मन नहीं, साथ हमारे हँसते सब हैं, पर हम नहीं, ज़िंदगी खुश है, पर हम नहीं

Stories We Think You'll Love 💕

Get The App

App Store
COMMENTS (0)
SHOUTOUTS (0)