आज कल स्कूलों के बस्ते मुझसे बतलाने लगे है , कहते है मुझे खोल के तो देख कहीं तेरी हंसी मुझमें ही तो नहीं ।
आज कल स्कूलों के बस्ते मुझसे बतलाने लगे है , 
कहते है मुझे खोल के तो देख कहीं तेरी हंसी मुझमें ही तो
नहीं । #wordshavefeelingstoo stories
  2
  •  
  0
  •   0 comments
Share

arjunteotia
arjunteotia Community member
Autoplay OFF   •   11 days ago
Word can be in any language , they only convey what's in your heart.

आज कल स्कूलों के बस्ते मुझसे बतलाने लगे है , कहते है मुझे खोल के तो देख कहीं तेरी हंसी मुझमें ही तो नहीं ।

Stories We Think You'll Love 💕

Get The App

App Store
COMMENTS (0)
SHOUTOUTS (0)