सफर.... फलसफे तेरे बेहद खूबसूरत थे, दास्तां मेरी वो लिख रहे थे दास्तां थी ये किसी खूबसूरत सफर की या किसी तन्हा सफरनामे की दास्तां तेरे बयां किए गए उन दो अल्फाजों की भी थी मेरे लफ्ज़ जो चुरा ले गई थी
सफर....


फलसफे तेरे बेहद खूबसूरत थे, दास्तां मेरी वो लिख रहे थे 
दास्तां थी ये किसी खूबसूरत सफर की या किसी तन्हा सफरनामे की

दास्तां तेरे बयां किए गए उन दो अल्फाजों की भी थी मेरे लफ्ज़ जो चुरा ले गई थी

 first stories
  2
  •  
  0
  •   0 comments
Share

aurora_03
aurora_03 Community member
Autoplay OFF   •   2 months ago
A beautiful path of love....which gives immense pleasure often comes to an end.

But the first feeling of that love and those butterflies in our stomach are one of the best feeling in this world

सफर.... फलसफे तेरे बेहद खूबसूरत थे, दास्तां मेरी वो लिख रहे थे दास्तां थी ये किसी खूबसूरत सफर की या किसी तन्हा सफरनामे की दास्तां तेरे बयां किए गए उन दो अल्फाजों की भी थी मेरे लफ्ज़ जो चुरा ले गई थी

खुदा ने ना जाने ये तकदीर कब बदल दी और मुकद्दर में मोहब्बत सी पाक चाह लिख डाली रहमत तो तब हुई उनकी जब नसीब में तुझसी हसीं एक खता लिख डाली दिल ना जाने तुझसे कब जुड़ गया था तेरी मुस्कुराहट देख कर पल भर के लिए थम सा गया था

वो पल भर की खुशी ना जाने कब एक अनमोल लम्हा बन गई थी वो पल भर का एहसास ना जाने कब एक दास्तां शुरू कर गया था तू ना जाने कब मेरा एक खूबसूरत सफर बन गया था।।

Stories We Think You'll Love 💕

Get The App

App Store
COMMENTS (0)
SHOUTOUTS (0)