जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |
जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह | stories
  0
  •  
  0
  •   2 comments
Share

ak123456789
ak123456789i a follower of saint Rampal ji maharaj
Autoplay OFF  •  6 months ago

जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |जीने की राह |

by saint rampal ji.

जीने की राह पुस्तक घर-घर में रखने योग्य है। इसके पढ़ने तथा अमल करने से लोक तथा परलोक दोनों में सुखी रहोगे। पापों से बचोगे,

घर की कलह समाप्त हो जाएगी। बहू-बेटे अपने माता-पिता की विशेष सेवा किया करेंगे। घर में परमात्मा का निवास होगा। भूत-प्रेत,

पित्तर-भैरव-बेताल जैसी आत्माऐं उस परिवार के आसपास नहीं आएंगी। देवता उस भक्त परिवार की सुरक्षा करते हैं। अकाल मृत्यु उस भक्त की नहीं होगी जो इस पुस्तक को पढ़कर दीक्षा लेकर मर्यादा में रहकर साधना

करेगा।

पुस्तक जीने की राह को पढ़ने से उजड़े परिवार बस जाऐंगे। जिस परिवार में यह पुस्तक रहेगी, इसको पढ़ेंगे। जिस कारण से नशा अपने आप छूट जाएगा क्योंकि इसमें ऐसे प्रमाण हैं जो आत्मा को छू जाते हैं। शराब,

तम्बाकू तथा अन्य नशे के प्रति ऐसी घृणा हो जाएगी कि इनका नाम लेने से रूह काँप जाया करेगी। पूरा परिवार सुख का जीवन जीएगा। जीवन का सफर आसानी से तय होगा क्योंकि जीवन का मार्ग साफ हो जाता है।

Stories We Think You'll Love 💕

Get The App

App Store
COMMENTS (2)
SHOUTOUTS (0)